Latest News

प्रदेश की जेलों में कैदी भी रेडियो पर सुनेंगे ’रमन के गोठ’ : आकाशवाणी से 11 अक्टूबर को होगा दूसरी कड़ी का प्रसारण
 Posted on 09/10/2015
 

इस बार एफ.एम. रेडियो स्टेशनों सहित
चार प्राईवेट न्यूज चैनल भी करेंगे प्रसारण

 

रायपुर, 09 अक्टूबर 2015

केन्द्रीय जेल रायपुर सहित राज्य के सभी जेलों के कैदी भी रविवार 11 अक्टूबर को सवेरे 10.45 बजे से 11 बजे तक सामूहिक रूप से रेडियो पर प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की वार्ता ’रमन के गोठ’ सुनेंगे। राज्य सरकार के जनसम्पर्क विभाग द्वारा शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में मुख्यमंत्री का प्रेरक संदेश आम जनता तक पहुंचाने के लिए आकाशवाणी के माध्यम से पिछले माह की 13 तारीख को इस मासिक रेडियो कार्यक्रम की शुरूआत की गई थी।
उल्लेखनीय है कि राजधानी रायपुर सहित राज्य के सभी जिलों के शहरों और दूर-दराज के गांवों में भी लोगों ने जगह-जगह चौपाल शैली में बैठकर मुख्यमंत्री का यह विशेष रेडियो प्रसारण उत्साह के साथ सुना गया। रेल्वे स्टेशनों से लेकर कई सार्वजनिक स्थानों पर लोग बड़ी दिलचस्पी से रेडियो पर मुख्यमंत्री को सुनते नजर आए। इस बार भी जनसम्पर्क विभाग ने रमन के गोठ की दूसरी कड़ी के प्रसारण की तैयारी कर ली है। जनसम्पर्क विभाग के सचिव श्री गणेश शंकर मिश्रा ने आज इस सिलसिले में प्रदेश के जेल महानिरीक्षक डॉ. के.के. गुप्ता से टेलीफोन पर बातचीत की और सभी जेलों में कैदियों को भी मुख्यमंत्री का रेडियो प्रसारण सुनने का अवसर देने का आग्रह किया। जेल महानिरीक्षक ने उन्हें आश्वस्त किया कि केन्द्रीय जेल रायपुर के साथ-साथ प्रदेश के सभी जेल अधिकारियों को इसके लिए आवश्यक निर्देश जारी किए जाएंगे।
छत्तीसगढ़ स्थित आकाशवाणी के सभी केन्द्रों से मुख्यमंत्री का यह रेडियो प्रसारण एक साथ रिले किया जाएगा। यह भी उल्लेखनीय है कि इस बार ’रमन के गोठ’ का प्रसारण आकाशवाणी के सौजन्य से सभी प्राईवेट एफ.एम. रेडियो स्टेशनों द्वारा भी किया जाएगा। जिनमें माई एफ.एम. रायपुर और बिलासपुर, रेडियो तड़का, रेडियो मिर्ची और रेडियो रंगीला भी शामिल हैं। इनके अलावा आकाशवाणी के ही सौजन्य से प्राईवेट टेलीविजन चैनल आई.बी.सी. 24, ई.टी.व्ही. (मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़), जी न्यूज (मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़), स्वराज एक्सप्रेस द्वारा भी 11 अक्टूबर को सवेरे 10.45 से 11 बजे तक ’रमन के गोठ’ का प्रसारण किया जाएगा।

 

 क्रमांक-3348/स्वराज्य