Latest News

रमन के गोठ पर जनप्रतिक्रिया
 Posted on 10/01/2016
 

रायपुर, 10 जनवरी 2016

  • बिलासपुर-सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती पल्लवी क्षत्रीय एवं श्रीमती प्रीति ने कहा कि रेडियो में रमन के गोठ सुनने के बाद ऐसा लगता है कि सीधे मुख्यमंत्री से बातचीत हो रही है। इसे लोगों को सुनना चाहिए। प्रदेश में आम लोगों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं के साथ ही तीज-त्यौहारों की भी जानकारी मिलती है। मुख्यमंत्री द्वारा युवाओं के हित के लिए किये जा रहे प्रयासों की भी जानकारी दी गयी हैं। इससे युवाओं के मन में भारी उत्साह है।
  •  राजनांदगांव -महापौर श्री मधुसुदन यादव, नगर निगम के सभापति श्री शिव वर्मा, पार्षदों ,नगर के गणमान्य नागरिकों, शिक्षा व समाज के विभिन्न क्षेत्र के लोगों के अलावा अधिकारी-कर्मचारियों नेभी रमन के गोठ कार्यक्रम को धैर्य पूर्वक सुना और कार्यक्रम की सराहना की।
  •  महासमुंद -जिले के नवरतन समिति के सदस्य श्री विश्वनाथ पाणीग्रही ने कहा कि राज्य के मुखिया डॉ. सिंह के द्वारा सूखा प्रभावित क्षेत्रों के किसानों के हित में उठाए जा रहे कदम से किसानों को बड़ी राहत मिलेगी। महाविद्यालयीन छात्र सुशांत सिदार और योगेश जगत ने कहा कि राजधानी रायपुर में युवा उत्सव के आयोजन में देश भर से आने वाले युवाओं से मिलने और उनके हुनर के साथ ही कला संस्कृति को भी जानने का मौका मिलेगा।
  •  रायपुर- नलघर चौक स्थित शासकीय पुस्तकालय की सदस्य छात्रा सुश्री मानसी सिंघानिया ने कहा कि उन्होंने इस कार्यक्रम केा सुना और उन्हें बहुत अच्छा लगा। इससे उन्हेें पता चला कि कैसे सरकार किसानों, महिलाओं और नवजात शिशुओं की मदद के लिए कार्य कर रही है। सूखा प्रभावित किसानों की बेटियों के विवाह के लिए कन्यादान योजना में राशि दोगुनी किये जाने तथा मनरेगा के तहत कार्यदिवसों की संख्या ढेड़ सौ से बढ़ाकर दो सौ दिवस किये जाने पर उन्हें बहुत प्रसन्नता हुई। जिला ग्रंथपाल श्रीमती पूर्णिमा गेंब्रिएल ने कहा कि रमन के गोठ माननीय मुख्यमंत्री का जनता तक सीधे पहुंचने की पहल सराहनीय है। नये आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थापना, मनरेगा में रोजगार दिवस बढ़ाया जाना एक बहुत अच्छा प्रयास है।,
  • दंतेवाड़ा- जिले के श्री वैभव सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री सूखा पीडि़त किसानों के कष्टों के प्रति काफी संवेदनशील है।  उन्होंने मनरेगा में काम के दिन 150 से बढ़ाकर 200 कर दिया है। श्रीमती अनिता नाग ने कहा कि यह अच्छी बात है कि मुख्यमंत्री आंगनबाड़ी सुधार पर इतना ध्यान दे रहे हैं। मैने अपने गांव में देखा कि आंगनबाड़ी उन्नयन अभियान जोर-शोर से चलाया जा रहा है। जनप्रतिनिधि आंगनबाडि़यों को गोद ले रहे हैं। पहले डॉ.कलाम के नाम पर शिक्षा गुणवत्ता अभियान चलाया गया था,उसके भी अच्छे नतीजे आए थे। आंगनबाड़ी पर विशेष ध्यान देने से कुपोषण की समस्या दूर होगी । अति दूरस्थ दंतेवाड़ा जैसे क्षेत्रों के लिए तो यह अभियान और भी अच्छा है। आंगनबाड़ी की गुणवत्ता सुधरने से कुपोषण की समस्या तेजी से दूर होगी।
  • कोण्डागांव -रमन के गोठ मासिक रेडियो वार्ता को सुनकर ग्राम पोलंग के ग्रामीणों ने उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया देते हुए बताया कि वे नियमित रुप से इस कार्यक्रम को सुनते हैं और इससे उन्हें योजनाओं की जानकारी मिलती हैं। आंगनबाड़ी गुणवत्ता अभियान के संदर्भ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताया कि अभियान के अंतर्गत आंगनबाड़ी मित्र एवं बाल मित्रों द्वारा बच्चें गोद लिए गए हैं। स्वयं गांव की सरपंच श्रीमती सुबती द्वारा ‘‘हरमनी‘‘ नामक बच्ची को भी गोद लिया गया हैं।
  •  बलौदाबाजार-भाटापारा - ग्राम सकरी के युवा लेखक श्री जितेन्द्र कुमार आगरे ने कहा कि वह नियमित रूप से रमन के गोठ कार्यक्रम सुनकर छत्तीसगढ़ में लेख और कविताएं लिखकर जनप्रतिनिधियों को अवगत कराते हैं। वह मुख्यमंत्री जनदर्शन कार्यक्रम में पहुंच कर शासकीय योजनाओं से संबंधित स्वलिखित कविताओं का संकलन प्रस्तुत कर चुके हैं। बलौदाबाजार सहकारी समिति के अध्यक्ष नेतराम साहू ने कहा कि रमन के गोठ के माध्यम से आमजनों को विभिन्न शासकीय योजनाओं की जानकारी मिल रही है। आम नागरिक अब शासन की योजनाओं का लाभ प्राप्त करने लगे हैं। जिले के श्री व्यास श्रीवास ने कहा कि प्रदेश के मुखिया द्वारा रेडियो के माध्यम से सीधे बात करने से आमजनों को राज्य के विकास के संबंध में जानकारी मिल रही है। इस कार्यक्रम का लाभ आने वाले दिनों में अधिक लोगों को मिलेगा।
  •  बेमेतरा - रमन के गोठ के संबंध में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए श्री विजय सिन्हा, श्री रामलाल, श्री सुखनंदन, श्री गोपाल प्रसाद, श्री रघुवीर, श्री कैलाश और श्री मोहन कुमार ने कहा कि किसी प्रदेश के मुखिया द्वारा प्रदेश की संस्कृति, तीज-त्यौहारों, उत्सवों के बारे में रेडियो के जरिए जनता तक पहुंचाने का यह प्रयास बढि़या है। कार्यक्रम के माध्यम से प्रेरणादायी रूचिकर बातों का समावेश काबिल-ए-तारीफ है। इन सभी लोगों ने कार्यक्रम की समयावधि बढ़ाए जाने की भी बात कही।
  •  धमतरी - महापौर श्रीमती अर्चना चौबे ने कहा कि आज के ‘गोठ‘  में सरकार की आम जनता के प्रति सहृदयता और संवेदनशीलता परिलक्षित होती है। सरकार एक ओर जहां किसानों को कई राहत दे रही है, वहीं दूसरी ओर कुपोषण दूर करने आंगनबाड़ी गुणवत्ता उन्नयन अभियान चला रही है। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष डॉ. एन.पी. गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री की कुपोषण मुक्ति के संबंध में मार्मिक अपील उनकी मानवीय सहृदयता को दर्शाती है। नगर निगम के पार्षद श्री नील पटेल ने कहा कि यह आम जनता और सरकार के मध्य सुख-दुख बांटने का सशक्त माध्यम है। शासन की सभी योजनाओं का सार्थक क्रियान्वयन प्रशासन द्वारा किया जाना चाहिए। पार्षद श्रीमती दमयंतीन गजेन्द्र ने कहा कि सूखा पीडि़त किसान अपनी बेटियों के हाथ पीले करने में लाचारी महसूस कर रहे थे, ऐसे में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत प्रोत्साहन राशि दुगनी करना एक श्रेष्ठ निर्णय है। पूर्व पार्षद श्री दयाशंकर सोनी ने ‘रमन के गोठ‘ के प्रसारण समय में वृद्धि करने की बात कही। वहीं वरिष्ठ नागरिक श्री विनोद राव रणसिंह ने इसे सभी वर्गों के लिए जनजागरण का बेहतर मंच बताया।
  •  बालोद - नगरपालिका परिषद बालोद के पार्षद श्री कमलेश सोनी ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सूखे से प्रभावित किसानों का हौसला बढ़ाया है। बच्चों और महिलाओं को कुपोषण से मुक्त करने तथा सूखा प्रभावित किसानों को राहत देने का राज्य सरकार का प्रयास सराहनीय है। वार्ड क्रमांक चार की महिला समूह ‘‘दुर्गा शक्ति मंच महिला मंडल‘‘ की रेखा देवी, लता, जितेश्वरी, रफिया बेगम, मोतिम बाई, रमतुला और प्रेमबाई ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत सहायता राशि 15 हजार रूपए से बढ़ाकर 30 हजार रूपए किए जाने पर खुशी जताई। पत्रकार-साहित्यकार श्री अरमान अश्क ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं तथा कार्यक्रमों की अच्छी जानकारी मिल रही है। हीरापुर के श्री हेमसिंग साहू ने कहा कि उसे यह सुनकर बहुत अच्छा लगा कि सरकार इस वर्ष सूखा प्रभावित किसानों के भू-राजस्व टैक्स माफ करने और जिलों में किसान मितान केन्द्र बनाकर किसानों की समस्याएं सुनने और उनके निराकरण की व्यवस्था करने जा रही है।
  •  कांकेर- आकाशवाणी से आज प्रसारित ‘‘रमन के गोठ‘‘ का जिला स्तरीय श्रवण कार्यक्रम आयोजन कांकेर जिले के गोविंदपुर स्थित लाइवलीहुड कॉलेज में किया गया । इस कार्यक्रम को लाईवलीहुड कालेज के छात्र-छात्राओं, प्रशासनिक और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों ने सुना और इसकी तारीफ की। लाइवलीहुड कालेज में अध्ययनरत नरहरपुर विकासखण्ड के ग्राम जुनवानी के श्री हलधर सिन्हा ने कहा कि आज के रमन के गोठ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा कुपोषण के विरूद्ध महाअभियान की जानकारी दी। इसी प्रकार अल्प वर्षा प्रभावित किसानों के हित में योजनाओं कार्यक्रमों की जानकारी दी गई। कापसी की कुमारी रेखा ने कहा कि सूखा पीडि़त किसानों के लिए सरकार संवेदनशील है, किसानों की मदद् और राहत के लिए सरकार की योजनाओं की जानकारी मिली। ग्राम कोटतरा के युगेश्वर साहू ने कहा बच्चों में कुपोषण मुक्ति का प्रयास सराहनीय कार्य है। भानुप्रतापपुर तहसील के ग्राम कोरर की पूजारानी ने कहा कि सूखा प्रभावित क्षेत्रों में मनरेगा के तहत रोजगार 150 दिनों से बढ़कर 200 दिन करने से ग्रामीणों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलेगा इससे उन्हें बड़ी राहत मिलेगी। लाईवलीहुड कॉलेज के छात्र श्री कर्ण धनेलिया ने कहा कि कुपोषण दूर करने आंगनबाड़ी गुणवत्ता अभियान काफी महत्वपूर्ण है। इससे स्वस्थ समाज के निर्माण में मदद मिलेगी इसका लाभ बच्चों को मिलेगा।ग्राम पोटगांव के श्री धर्मेन्द्र भेडि़या ने कहा कि सूखा प्रभावित क्षेत्रों में रोजगार के अवसर किसानों को कर्ज में 25 प्रतिशत छूट, तथा उन्हें निःशुल्क बीज वितरण आदि कार्य किसानों के लिए संवेदनशील पहल है।
  • नारायणपुर - नारायणपुर जिले में मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को ग्राम पंचायत हालीमुंजमेटा सहित पोटा केबिन देवगांव तथा कुरूषनार में सुनने के लिए एकत्रित पंचायत पदाधिकारियों और ग्रामीणों में सरपंच श्री छुचाय शोरी सहित लालसाय, बुधराम, रजऊ, मंगतू और सोनसाय ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह किसानों को राहत पहुंचाने और मदद देने के लिए संवेदनशील हैं। वहीं नौनिहालों के भविष्य के प्रति सकारात्मक पहल कर आंगनबाड़ी गुणवत्ता अभियान संचालित करने सहित छत्तीसगढ़ को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए कटिबद्ध हैं। इस दौरान पोटाकेबिन देवगांव में रमन के गोठ कार्यक्रम को सुनने वाले सरपंच श्री रामसिंह मंडावी, प्रगतिशील कृषक महेश देवांगन, पूर्व सरपंच लच्छूराम वड्डे के अलावा अन्य ग्रामीणों ने कहा कि सरकार सूखा प्रभावित किसानों को मदद देने सहित उन्हें रोजगार सुलभ कराये जाने के लिए संवेदनशीलता के साथ पहल कर रही है। इन सभी ग्रामीणों ने सूखा प्रभावित किसानों को अतिशीघ्र राहत राशि प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह के प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हुए किसानों के समस्याओं के निराकरण हेतु किसान मितान केन्द्र और किसान संगवारी केन्द्र की स्थापना को सराहनीय पहल निरूपित किया।
  • कबीरधाम -जिला पंचायत अध्यक्ष श्री संतोष पटेल ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के गोठ के माध्यम से शासन के विभिन्न विकासमूलक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी जिले एवं प्रदेश के अंतिम छोर तक स्थित ग्रमाीण एवं बच्चें विशेष रूप से लेते है और ग्रामीणजन इन योजनाओ को लाभ उठाने के लिए आगे आते है। उन्होने कहा कि राज्य शासन में शिक्षा,स्वास्थ्य,आंगनबाड़ी से जुडे़ कार्यक्रमों के साथ साथ प्रदेश एवं जिले में सूखे की स्थिति से निपटने के लिए किसानों के दुख-दर्द को समझकर उनके भू-राजस्वकर माफ किए हैं। वहंी मनरेगा के तहत रोजगारमूलक कार्य प्रारंभ कराएं है। ग्राम पंचायत के सरंपच श्री विजय पटेल ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि रमन के गोठ के माध्यम से तीज-तिहार और शासन की योजना की जानकारी लोगों को मिलती है। वही समनापूर पूर्व माध्यमिक शाला की प्रधानपाठक श्रीमती हेमलता सोनी ने अपनी प्रतिक्रिया मंे कहा कि मुख्यमंत्री जी के गोठ के माध्यम से जहां एक ओर राज्य की सांस्कृतिक,सामाजिक एवं समसमायिक तथ्यों की जानकारी मिलती है,वहीं विभिन्न योजनाओं के माध्यम से लोग अवगत होते है और इससे लाभ भी उठा रहे है।
  • जांजगीर चांपा -जिले के आयुर्वेद ग्राम धुरकोट के पूर्व सरपंच श्री रोहित सिंह ने कहा कि सूखा प्रभावित किसानों के लिए राज्य सरकार जो राहत उपाय कर रही है उसके बारे में इस कार्यक्रम के जरिए विस्तार से जानकारी लोगों को मिली है। साथ ही सरकार ने 15 मार्च तक 75 प्रतिशत ऋण की राशि जमा करने पर 25 प्रतिशत ऋण राशि को माफ करने तथा जो किसान ऋण नही पटा पाए है उनके अल्प अवधि ऋणों को ब्याज मुक्त मध्यकालीन ऋणों में परिवर्तित करने की जो सुविधा राज्य सरकार ने दी है उससे किसानों को निश्चित ही राहत मिलेगी। इसी तरह सूखा प्रभावित किसानों की बेटियों के विवाह के लिए 15 हजार की सहायता राशि को बढ़ाकर 30 हजार रूपए कर दिया गया है, जो एक सराहनीय कदम है।उप सरपंच श्रीमती जगबाई कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने रेडियोवार्ता के जरिए प्रदेशवासियों से सीधे रू-ब-रू हो रहे है और वो इसमें राज्य के विभिन्न तीज-त्यौहारों पर भी विस्तार से चर्चा करते है। आज के प्रसारण में उन्होंने आगामी दिनों में मनाए जाने वाले मकर संक्राति, छेर-छेरा पुन्नी तथा गणतंत्र दिवस पर्व की चर्चा करते हुए लोगों को इसकी बधाई और शुभकामनाएं दी यह एक बहुत अच्छी पहल है। श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के अवसर पर 12 जनवरी से 16 जनवरी तक राष्ट्रीय युवा महोत्सव का रायपुर में आयोजन प्रदेशवासियों के लिए गर्व की बात है।
  • मुंगेली -पोस्ट मेट्रिक छात्रावास के विद्यार्थियों में हरीश, गुलशन, लुकेश, अनिल, मनमोहन, जगजीवन, राहुल एवं विवेक ने बताया कि ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम बेहद अच्छा लगा। बच्चों ने बताया कि हर माह छात्रावास में ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को सुनते है। हर माह कार्यक्रम का आयोजन होना चाहिये। सहायक आयुक्त श्री सी.डी. चेलक ने बताया कि हर माह ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम का इंतजार रहता है।
  •  बिलासपुर:- जिले में रमन के गोठ के प्रसारण समाप्त होने के पश्चात् इस संबंध में प्रतिक्रिया देते हुए श्री मुकेश बंजारे ने मनरेगा के तहत् जल्द काम प्रारंभ करने की अपेक्षा प्रशासन से की। गांव की श्रीमती गंगोत्री ने कहा कि अब गरीब मन के बेटी के बिहाव बर 15 हजार के जगह 30 हजार मिलही अच्छे बात आय ना। 11वीं कक्षा की छात्रा दामिनी पटेल ने रमन के गोठ सुनने के बाद कहा कि आगंनबाड़ी में गुणवत्ता उन्नयन अभियान के बारे में मुख्यमंत्री जी ने जो जानकारी दी, यह सुनकर उसे बहुत अच्छा लगा कि महिलाओं एवं बच्चों में कुपोषण दूर करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने किसानों के हित के लिए सरकार द्वारा उठाएं गए कदम के बारे में बताया। यह जानकर भी उसे बहुत अच्छा लगा, क्योंकि वह भी एक किसान की बेटी है। कु. अंजली बंजारे ने कहा कि स्वामी विवेकानंद की जयंती को युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इससे हम युवाओं को देश और समाज के लिए कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी।
  • रायगढ़:- जिले में मुख्यमंत्री के रेडियो से प्रसारित बातचीत को सुनने के बाद सुर्री गांव के लोगों ने नौनिहालों को आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से गुणवत्तायुक्त पूरक-पोषण आहार देने तथा आंगनबाड़ी को बेहतर बनाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देशानुसार पूरे प्रदेश में 4 जनवरी से 13 जनवरी तक संचालित किए जा रहे आंगनबाड़ी गुणवत्ता अभियान की सराहना की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आंगनबाडि़यों को बेहतर बनाने के लिए लोगों से सहभागी बनने की अपील की है ।  इससे आंगनबाडि़यों की स्थिति में निश्चित रूप से सुधार आएगा।
  • कोरिया:- जिले में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘‘रमन के गोठ‘‘ के संबंध में प्रतिक्रिया देते हुए कोरिया जिले के सतीश उपाध्याय, लाईवलीहुड कॉलेज की छात्रा कुमारी साधना, सोनम, कुमारी सहगुप्ता प्रवीन और मास्टर टेªनर श्री राधेश्याम प्रजापति और श्री अभिनव सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘‘रमन के गोठ‘‘ का प्रसारण कोरिया जिले को गौरवान्वित एवं प्रदेश में विशिष्ट पहचान देने में सफल रहा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जिस आत्मीय भाव से सरगुजिहा भाषा में संबोधित किया, वह दिल को छूने वाला आम कोरिया वासियों की आवाज लगी। इसके लिए कोरिया जिले के निवासियों ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को धन्यवाद दिया और कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘‘रमन के गोठ‘‘ से युवा शक्ति को जो प्रेरणा दी है, उससे उनमें आत्मविश्वास का संचार हुआ, निःसन्देह मुख्यमंत्री की प्रेरणा से युवा शक्ति अपनी क्षमता, काबिलियत पहचान कर प्रदेश के उत्तरोत्तर विकास में सहभागी बनेगी।
  •  जशपुर:- जिले में रमन के गोठ’ सुनकर लोगों ने उत्साहजनक प्रतिक्रिया दी। नगर पालिका अध्यक्ष  श्री हीरूराम निकंुज ने शासन द्वारा शुरू किये गये आंगनबाड़ी गुणवत्ता अभियान की सराहना करते हुए कहा कि इससे गुणात्मक सुधार होगा। जनभागीदारी से कार्यो को सफल अंजाम तक पहुंचाया जा सकता है। वार्ड पार्षद श्रीमती मीरा गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री का प्रदेश की जनता से जुड़ने का यह प्रयास प्रशंसनीय है। इसके माध्यम से सरकार की गतिविधियों के बारे में पता चलता है।
  • कोरबाः-  जिले में मनीराम ने बताया कि रमन के गोठ कार्यक्रम के बारे में जैसे ही मालूम हुआ उसे बहुत खुशी हुई। श्रोता मनीराम ने बताया कि रेडियो के रायपुर आकाशवाणी केंद्र से अन्य कार्यक्रम की अपेक्षा रमन का गोठ सुनना अलग ही अनुभव है। रमन के गोठ में मुख्यमंत्री का शासन की योजनाओं के विषय में बताना, महिलाओं, ग्रामीणों किसानों के हित में चर्चा सुनकर अच्छा लगा। श्रोता मनीराम ने मुख्यमंत्री द्वारा रमन के गोठ के माध्यम से प्रदेश के जन-जन तक संवाद स्थापित करने के कार्यक्रम की सराहना करते हुए इस संवाद का अनवरत बनाये रखने की इच्छा जताई है।
  • सरगुजा:- अम्बिकापुर जिले में सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती ममोल कोचेटा ने भी मुख्यमंत्री के गोठ की सराहना करते हुए कहा कि शासन की प्राथमिकताओं के बारे में राज्य के मुखिया से सीधे जानकर हमें हर्ष होता है कि राज्य निरन्तर विकास की ओर अग्रसर है। उन्होंने कुपोषण को दूर करने के लिए चलाए जा रहे आंगनबाड़ी गुणवत्ता उन्नयन अभियान को एक सराहनीय प्रयास बताया। मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना के तहत दी जाने वाली राषि 15 हजार रूपये को बढ़ाकर 30 हजार रूपये कर कद दी गई है। मुख्यमंत्री ने बताया कि किसानों की सुविधा के लिए हर जिले में किसान मितान केन्द्र की स्थापना की गई है। जिसके तहत किसान अपनी समस्यायें बताकर समाधान प्राप्त कर सकते है।
  •  जगदलपुर:- कक्षा चौथी के छात्र सूर्यप्रकाश बघेल और कक्षा छठ्वीं के छात्र अश्वनी कश्यप ने कहा कि रमन के गोठ के माध्यम से उन्हें मुख्यमंत्री की बातों को सुनने का अवसर मिला। आई.टी.आई. के छात्र दयानिधि बघेल और ललित कश्यप, कक्षा दसवीं के छात्र सुरसव बघेल और कक्षा बारहवीं के छात्र संतोष कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने युवाओं के प्रेरणास्त्रोत स्वामी विवेकानंद के बारे में जो जानकारी दी है, वह प्रेरणादायक है। इन युवाओं ने नया रायपुर में 12 जनवरी से आयोजित हो रहे राष्ट्रीय युवा महोत्सव को लेकर भी उत्साह दिखाया। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सुश्री अस्मती बघेल और श्रीमती तिलोत्मा कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आंगनबाड़ी केन्द्रों के उन्नयन का जो बीड़ा उठाया है, वह महिलाओं और बच्चों के लिए कल्याणकारी है। बोड़मपाल के सरपंच श्री हरचंद्र मौर्य, उप सरपंच हरिराम मौर्य, बड़े चकवा की सरपंच श्रीमती जनक बाई ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने हल्बी बोली में जो बात कहीं वह सब दिल को छू गई।
  • सुकमा:- सुकमा के नागरिकों ने रमन के गोठ के संबंध में प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के मुखिया ने जनता से सीधा संवाद के लिए रमन के गोठ शुरू किया है। यह प्रदेश में सुशासन लाने के लिए काफी उपयोगी होगा। जनता को शासन की गतिविधियों एवं योजनाओं की जानकारी मिलेगी।
  • गरियाबंद:- जिले के सरकड़ा ग्राम पंचायत के सरपंच श्री मनोज यदु ने रमन के गोठ सुनने के बाद कहा कि गांव में सिंचाई सुविधा के लिए नजदीक के झरझरा नाला में बने स्टाप डेम की ऊंचाई बढ़ाने की जरूरत है। इससे अनेक गांव में सिंचाई सुविधा मिलेगी। उन्होंने बताया कि मनरेगा और शासन की विभिन्न योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन से गांव से पलायन रूका है और विकास की गति तेज हुई है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव के सभी बच्चे स्कूल जाते हैं।
  • सूरजपुरः- जनपद पंचायत सूरजपुर के प्रांगण में छत्तीसगढ़ राज्य के व्यापारी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष श्री बाबूलाल अग्रवाल, नगर पालिका अध्यक्ष श्री थनेश्वर सिंह सहित अन्य ग्रामीणों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को सुना। सूरजपुर स्थित कस्तूरबा आवासीय विद्यालय, कन्या आश्रम शिवपुर, बालक छात्रावास रामनुजनगर तथा कन्या छात्रावास परशुराम नगर में भी मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता सुनी गई।  


क्रमांक-4883