News Details

भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने का श्रीगणेश है जीएसटी: डॉ. रमन सिंह : मुख्यमंत्री ने रेडियो श्रोताओं को बताया जीएसटी का महत्व

09/07/2017

रायपुर, 09 जुलाई 2017
 
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जीएसटी कानून देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने का शंखनाद है। यह भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने का श्रीगणेश है। डॉ. सिंह ने आज आकाशवाणी के रायपुर केन्द्र से प्रसारित अपनी मासिक रेडियो वार्ता ’रमन के गोठ’ की 23वीं कड़ी में श्रोताओं को जीएसटी कानून के महत्व और उससे मिलने वाले फायदों की जानकारी दी। 
डॉ. सिंह ने कहा-पहले दुकानदार को अलग-अलग तरह के काम-धंधे में 16 तरह के करों का भुगतान करना पड़ता था, लेकिन अब उन्हें सिर्फ एक,
जी.एस.टी. का भुगतान करना होगा। इसके लिए ऑन लाइन व्यवस्था की जा रही है। व्यापारियों को अलग-अलग तरह के कर पटाने और उन सबका हिसाब-किताब रखने के लिए काफी समय देने के कारण, उन्हें बंधन महसूस होती थी, अब इससे राहत मिलेगी। इसलिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने नई कर प्रणाली को ’आर्थिक आजादी’ का नाम दिया है। उन्होंने ’जीएसटी’ को ‘गुड एण्ड सिम्पल टैक्स’ कहा है, जिसका मतलब होता है, ‘अच्छा और सरल कर’। मुख्यमंत्री ने कहा- आजादी के बाद लगातार देश में जो करांे का मकड़जाल बिछ गया था, उसे समाप्त कर दिया गया है। जीएसटी से व्यापार-व्यवसाय से जुड़े लोगों को सुविधा होगी। साथ ही आम जनता, विशेषकर गरीबों को भी बहुत लाभ होगा। डॉ. सिंह ने कहा- कृषि और घरेलू उपयोग की ज्यादातर वस्तुओं को ’जीएसटी’ से मुक्त रखा गया है। आम जरूरतों के 80 प्रतिशत सामानों पर मात्र 5 से 18 प्रतिशत के बीच ’जीएसटी’ लगाया गया है। उच्च वर्ग के उपयोग की चीजों पर भी 28 प्रतिशत की दर से ’जीएसटी’ लगाया गया है, जिसकी संख्या भी कम है। 
मुख्यमंत्री ने रेडियो श्रोताओं को बताया-छत्तीसगढ़ में तत्काल प्रभाव से हमने ’आरटीओ ’के 16 नाके समाप्त कर दिए हैं, जिससे ’जीएसटी’ की भावना के अनुरूप निर्बाध परिवहन हो सके। ऐसे अनेक लाभ भविष्य में देखने को मिलेंगे। उन्होंने कहा-इस तरह ’जीएसटी’ का हम  सबको मिलकर स्वागत करना चाहिए। मैं विश्वास दिलाता हूं कि ’जीएसटी’ गांव, गरीब और किसानों के हित में है।
 
क्रमांक-1505/स्वराज्य