News Details

रमन के गोठ (सरगुजिहा) आकाशवाणी से प्रसारित विशेष कार्यक्रम (10 सितम्बर 2017)

10/09/2017

पुरूष उद्द्योषक   

-     श्रोता हो नमस्कार!

-     आकाशवाणी कर विशेष प्रसारण ‘‘रमन के गोठ‘‘ हमन जम्मों श्रोता मन कर हार्दिक अभिनन्दन करथन। कार्यक्रम कर 25 वाँ कड़ी बर आकाशवाणी कर स्टूडियों में माननीय मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जी पधाएर चुकिन हैं।

-     डॉ. साहेब नमस्कार, बहुत-बहुत स्वागत है राउर ए कार्यक्रम में।  

मुख्यमंत्री जी     

-     स्टूडियो में मोर स्वागत करे बर राउर मन ला धन्यवाद। मैं अपन श्रोता मन ला विशेष रूप से धन्यवाद देथों, जेमन हर महिना कर दूसरा एतवार के बिहाने पौने ग्यारह बजे     आउ राती 8 बजे शुरू होए वाला ए कार्यक्रम कर इंतजार करथें।

-     जम्मों संगता, सियान जवान दाई-बहिन मन ला जय जोहार।

-     तीजा,पोरा, जन्माष्टमी, गनेश पूजा, बकरीद तिहार, राजी खुशी निपएट गईस। जम्मो झन उमंग उत्साह ले भइर के अपन काम बुता में जुइट गईन हैं।

-     पितर पख शुरू होए गईस हे। अपन पुरखा मन ला सुरता करथन, तरपन करथन आउ पितर मन ला पानी देथन।

-     पितर पख बितही तहाँ नवरातर शुरू होही। हमर राएज कर चारो कती आदि शक्ति देवी   बिराजिस है। माँ दंतेश्वरी, माँ बम्लेश्व, माँ महामाया, माँ चन्द्रहासिनी कर शक्ति पीठ हवे। एकर   अलावा हर जिला, हर शहर, हर गांव में घलु अलग-अलग स्वरूप में देवी कर वास हवे। नौ दिन तक देवी माँ कर नौ स्वरूप कर उपासना चलही। बड़े-बड़े जगहा हे माँ दुर्गा बइठाहीं। आउ 30 तारीख के दसईं तिहार होही। दंतेश्वरी माई कर परताप हवे कि हमर बस्तर दशहरा दुनिया कर सबले बगरा 75 दिन तक चले वाला उत्सव हवे।

-     रउरे सब झन ला नवरात्रि आउ दशहरा तिहार कर ढैरेच बधाई आउ शुभकमनाएं देह थों।

महिला उदघोषक

-     माननीय मुख्यमंत्री रउरे ढेरे सुघ्घर बात कहेन कि हमर भारतीय संस्कृति में अपन पुरखा मन ला पूजे आउ उनकर बताल रस्ता में चले कर बहुत महत्व देहल जाएल। अईसा ही एगोट विशेष अवसर हमर आगु हे। पूरा देश में पं.दीनदयाल उपाध्याय जी कर जनम शताब्दी बछर मनाल जात हैै। पं.दीनदयाल उपाध्याय कर व्यक्तित्व आउ कृतित्व ला लेवे लोग मन में ढेरे जिज्ञासा है। ए संबंध में हमर श्रोता मन ला जानकारी देहे कर किरपा करी।

मुख्यमंत्री जी

-     सबले आगु तो मैं पं. दीनदयाल उपाध्याय ला सादर नमन करथांे भगवान हर जुग में कोई अईसा विलक्षन प्रतिभा ला ए दुनिया में भेंजेल जेहर दुनिया ला सही दिनशा दे सके। पं.   उपाध्याय अइसेन मनीषी होईन है।

-      पं. उपाध्याय कर जनम साधारण गृहस्थ परिवार में होए रहिन लेकिन ओ एतना मेघावी रहिन कि मैट्रिक आउ इण्टरमिडिएट कर परीक्षा के प्रीणय सूची में पहिला स्थान में आए रहिन।    सिविल सेवा कर परीक्षा में सफल होइन लेकिन अपन कैरियर बनाना उनकर जीवन कर लक्ष्य नई रहिस। एकर बर ओ मां भारती कर सेवा के रस्ता चुनिन। सांस्कृतिक, राष्ट्रवाद, एकात्म मानव दर्शन आउ अंन्त्योदय कर रूप में अईसा जीवन-दर्शन कर खोज करिन जेहर हमर अस्तित्व कर आधार हवे।

-      पं. उपाध्याय जी हर एकात्म मानववाद, आउ अन्त्योदय कर माध्यम ले दुनिया ला मानवता कर सेवा कर अदभुत संदेश देहिन।

-     ओ कहे रहिन कि हमर राष्ट्रीयता कर आधार भारत माता है। अगर एमे ले माता हटाए देहल जाएतो भारत केवल जमीन कर टुकड़ा रहि जाही।

-     पं.उपाध्याय कहे रहिन कि- एक बीज ले निकलल जड़, तना, शाखा पतई, फूल आउ फर   सबकर रूप रंग गुण अलग है लेकिन बीज कर चलते इनकर एकत्तव कर तिश्ता के पहचान होएल। एही नियर ओ मानव जाति बर एकात्मकता कर सिद्धान्त प्रतिपादित करें रहिन, जेमें मइनसे -मइनसे कर बीच एकता होए संघर्ष कर कहीं कोई जगहा नई होए।

 

-     ओ समाज कर सबले कमजोर समूह उपर सबले बगरा धियान देहे बर कहे रहिन ताकि ओ तेजी ले उपर आए आउ अमीरी-गरीबी कर भेद झिन रहे। कमजोर वर्ग ला भी जीवन ला सरल       बनाए वाला आउ प्रगति कर पूरा व्यवस्था कर लाभ भेंटाए।

-      एकरे बर हमन प. दीनदयाल उपाध्याय ला युग पुरूष मानथन आउ उनकर व्यक्तित्व आउ कृतित्व ला सब झन ला बताए बर छत्तीसगढ़ में 15 सितम्बर ले 25 सितम्बर तक 11 दिन तक विशेष आयोजन करे कर घोषण राएज सरकार करिसे, ताकि समाज में समरसता कर संगे विकास कर रस्ता आसान होए सके।

पुरूष उद्घोषक

-      माननीय मुख्यमंत्री जी पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती समरोह कर अवसर में 15 सितम्बर ले 25 सितम्बर तक कोन तरह के कार्यक्रम आयोजन होही ? का रहरे ए संबन्ध में प्रकाश डालना चाहब।

मुख्यमंत्री जी

-     15 सितम्बर ले 25 सितम्बर तक प्रदेश के  जम्मो स्कूल आउ कॉलेज मन हे पं. उपाध्याय कर जीवन उपर केन्द्रित लोक संगीत, नृत्य, नाटक, निबंध चित्रकला, भाषण, वाद-विवाद प्रतियोगिता मन होही।

-      विश्विदयालय मन में एकात्म मानववाद उपर सम्मलेन, सेमीनार, कर आयोजन हो,

-     जम्मो 27 जिला में विभिन्न जगहा में पं.दीनदयाल उपाध्याय कर जीवनी पर आधारित कथा कर आयोजन होही।

-     ग्रामीण अंचला में खेलकूद प्रतियोगिता, स्वास्थ्य शिविर, कृषि मेला जैसा अनेक आयोजन होही।

-     पूरा प्रदेश में उपाध्याय जी कर जनम दिवस 25 सितम्बर के विशेष ग्राम सभा कर आयोजन होही, जहां उनकर जीवनी पईढ़ के सुनाल जाही। विभिन्न विभाग मन कती ले अन्त्योतदय आउ गरीबी उन्मूलन बर चलाल जात योजना मन कर जानकारी देहल जाही।

-     प्रदेश में पं. दीनदयाल उपाध्याय कर नाम से संचालित विभिन्न योजना, कार्यक्रम मन कर जानकारी संकेल के आम जनता ला देहल जाही।

-     ए नियर अन्त्योदय बर राज्य शासन कति ले करल जाता प्रयास मन ला लेके जन-जागरण करल जाही, जेमें जरूरतमंद हितग्राही ए योजना मन कर लाभ ले सकंे।

-     पं. दीनदयाल उपाध्याय जन्मशताब्दी समारोह कार्यक्रम कर समापन 11 फरवरी 2018 के       पंचायती राज सम्मेलन कर रूप में करल जाही।

महिला उद्द्योषक

-     माननीय मुख्यमंत्री जी, छŸाीसगढ़ में पं. दीनदयाल उपाध्याय कर याद ला अक्षुण्ण बनाए राखे       बर अनेक बड़ा प्रयास करल गईसे, एमे ले कुछ महत्वपूर्ण काम कर बारे में हमर श्रोता मन ला       जानकारी देहे कर किरपा करी।

मुख्यमंत्री जी

-     रउरे मन ला जाएन के खुशी होही कि प्रदेश में पं. दीनदयाल उपाध्याय गरीब कल्याण बछर मनात स्थाई महत्व कर अनेक कदम उठाल गईसे।

-     कमजोर वर्ग ला आवास उपलब्ध कराए बर पं. दीनदयाल उपाध्याय आवास योजना संचालित करल जाथे। एही नियर अनेक योजना मन कर नामकरण पं. उपाध्याय कर नाम ले करल       गईसे।

-     पं. दीनदयाल उपाध्याय सम्पूर्ण वांग्यम पुस्तक कर सेट जम्मो ग्राम आउ जनपद पंचायत मन ला उपलब्ध कराल गईसे। संगे संग नगरीय निकाय मन ला भी उपलब्ध कराल जाथे। मैं निवेदन करथों कि ए पुस्तक मन कर पठन-पाठन हर स्तर में होए ताकि एकात्म मानववाद आउ अन्त्योदय कर अवधारणा कर लाभ सबला भेंटाए।

-     नवा रायपुर में मंत्रालय ला मुख्य सड़क ले जोड़े वाला मार्ग कर नाम एकात्म पथ रखल गईसे। संगे संग मुख्य चैराहा में पं. दीनदयाल  उपाध्याय कर विशाल प्रतिमा स्थापित करल गईसे। जेकर लोकार्पण माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा करल गए रहिस।

-     हमर शासन-प्रशासन कर बड़ा विशेषता में नवाचार कर रोंट भूमिका रहिस हे। मैं रउरे मन ला बताना चाहथों कि कोरबा जिला के कटघोरा विकासखण्ड में स्याहीमुड़ी गांव में पं. दीनदयाल       उपाध्याय शैक्षणिक परिसर कर निर्माण बड़ा तेजी से करल जाथे।

-     ए अंचल में अनुसूचित जनजाति कर बहुलता हवे।

-     मतलब ए परिसर कर लाभ अन्त्योदय में भेंटाही।

-     40 एकड़ भुईंया में 125 करोड़ रूपिया कर लागत ले 4 हजार सीटर शैक्षणिक परिसर अपन आप में बहुत विशाल आउ अदभूत है।

-     इहां पहली ले के बारहवीं तक 4 हजार बालक - बालिका मन ला निःशुल्क आवासीय सुविधा मिलही। 100 सीटर दिव्यांग आवासीय विद्यालय भी बनही। ए नियर में अत्याधुनिक   शिक्षण-प्रशिक्षण कर बेवस्था होही।

-     ए परिसर ग्रीन बिल्डिंग आउ आईएसओ प्रमाणित होही, अईसा बेवस्था करल जाथे।

-     सरकारी क्षेत्र में आदिवासी बहुल अंचल में अईसा विशाल शिक्षा परिसर बनाए कर कड़ी में हमर प्रयास लगातार जारी है, एकर पहिले बस्तर कर दूरस्थ जिला दंतेवाड़ा में जावंग शिक्षा परिसर बनाल गईस, जेला बहुत प्रसिद्धि मिलल है।

-     एही तरह कर परिसर बीजापुर आउ सुकमा जिला में भी बनाल जाथे जेमें सीएसआ, डीएमएफ आउ अन्य योजना मन ले विŸाीय मदद देहल गईसे जेहर अपन तरह के एगोट नवाचार हवे।

पुरूष उद्द्योेषक

-     डॉक्टर साहेब, समर्थन मूल्य मंे खरीदल गईस धान कर बोनस देहे कर घोषणा बिŸाल दिन में       रउरे कइर देहे ही, जेकर ले किसान भाई मन में बहुत खुशी है। बोनस वितरण कर पृष्ठभूमि       आउ आगु कर प्रक्रिया कर बारे में बताए कर कष्ट करब।

मुख्यमंत्री जी

-     धान छŸाीसगढ़ कर जान हवे। हमर किसान भाई-बहिन आउ उनंकर परिवार कर जीवन धान       कर खेती, धान कर सुघ्घर फसल आउ ओकर बिक्री ले ही चलेल। किसान मन कर व्यक्तिगत       आउ प्रदेश कर अर्थव्यवस्था में धानकर बड़ा योगदान हवे। एकरे बर हमन धान खरीदी कर       बेवस्था में सुधार ला अपन सबले पहिला प्राथमिक बनाए रहेन।

-     जब हमन सरकार कर बागडोर सम्हालेन तब प्रदेश मेें मुश्किल से 5 लाख मीट्रिक टन धान के       खरीदी होत रहिस। खरीदी कर प्रक्रिया बहुत कठिन रहिस आउ किसान मन ला भुगतान पाए में भी बहुत तकलीफ होत रहिस।

-     हमन कम्प्यूटर आधारित पारदर्शी बेवस्था करेन। 1 हजार 333 प्राथमिक साख सहकारी समिति       के 1 हजार 989 उपार्जन केन्द्र मन में धान खरीदी कर इंतजाम करेन ताकि किसान मन ला       अपन गांव छोएड़ के दुरिहा झिन जाना पड़े।

-     बछर 2003-2004 ले लेके बछर 2016-17 तक 6 करोड़ 91 लाख 59 हजार मीट्रिक टन धान कर खरीदी करत किसान मन ला लगभग 75 हजार करोड़ रूपिया कर भुगतान करल गईसे।

-     हमन अपन घोषणा पत्र कर पालन करत बछर 2013-14 में खरीदल गईस 78 लाख 35 हजार       मीट्रिक टन धान उपर 300 रूपिया प्रति क्विंटल कर दर ले बोनस कर भुगतान भी करेन। तब       किसान मन कर घरे समर्थन मूल्य कर 10 हजार 362 करोड़  रूपिया आउ बोनस कर 2 हजार       374 क     रोड़ रूपिया पहुंचे रहिस।

-     बछर 2015 में प्रदेश में  बड़ा सूखा पड़े रहिस, जेकर चलते राहत के उपाय करल गए रहिस       आउ 1800 करोड़ रूपिया ले बगरा कर राशि किसान भाई मनला अलग-अलग मद में देहल     गए रहिस।

-     ए बीच प्रदेश में किसान मन कर अनेक कल्याणकारी निर्णय लेहल गईस। फसल विविधीकरण,       कृषि, लागत में कमी, वैज्ञानिक आउ तकनीकी उपाय ले लाभदायक फसल के खेती ला बढ़ावा       जईसा अनेक उपाय करल गईसे।

-     कृषि लागत में कमी, उत्पादकता में वृद्धि कर चलते प्रदेश ला तीन धाएर चावल उत्पादन आउ   एक धाएर दलहन उत्पादन बर ‘कृषि कर्मण‘ पुरस्कार मिलिस।

-     हार्टिकल्चर कर क्षेत्र में शानदार उपलब्धि कर चलते छŸाीसगढ़ एग्रीकल्चर लीडरशीप अवार्ड       2017 भेंटाइस। प्रदेश में बिŸाल 13 बछर के कार्यकाल में उद्यानिकी के रकबा चार गुना आउ       उत्पादन 5 गुना बढ़िसे।

-     ए धाएर जब मानसून कमजोर होईस आउ प्रदेश कर कुछ जिला मन में सूखा कर स्थिति पैदा       होईस तो एकर चिंता छŸाीसगढ़ ले लेके दिल्ली तक में करल गईस।

-     मैं अपन शीर्ष नेतृत्व से मिले बर जब दिल्ली गए तो हमर राष्ट्रीय अध्यक्ष जी हर काफी   संजीदगी ले राज्य कर स्थिति के चर्चा करिस आउ मोर सुझाव उपर सहमत होईस कि हमन       ला छŸाीसगढ़ में किसान मन धान कर बोनस देना चाही।

-     माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी कर संवेदनशीलता आउ किसान मन बर उनकर स्नेह       काकरो ले छिपल नई हवे। ओही बोनस कर मुद्दा उपर तत्काल सहमति प्रदान करिन आउ       आगु बइढ़ के कहिन कि किसान मन ला कोई भी स्थिति में तकलीफ नई होना चाही। आउ       ओमन ला हर संभव मदद करना चाही।

-      ए नियर हमन ए निर्णय लेहे हन कि खरीफ 2016 मंे खरीदल धान कर बोनस एही दिवाली कर       पहिले किसान मन ला देहल जाए।

-     बछर 2016 में 13 लाख ले बगरा किसान म ले 69 लाख 59 हजार मीट्रिक टन धान कर खरीदी कर खरीदी होए रहिस, जेकर बर प्रति क्विंटल 300 रूपिया कर बोनस देहे ले लगभग 2100 करोड़ रूपिया कर राशि कर भुगतान होही।

-     हमन तय करे हन कि दिवाली कर पहिले ‘बोनस तिहार‘ मनाबो आउ हर जिला में बोनस देके       किसान भाई-बहिन मन कर उत्साह बढ़ाबो।

-     खरीफ 2017 कर धान खरीदी के बोनस बछर 2018 मंे देहे कर निर्णय भी हमन कईर लेहे हन।

-     मैं फिर कहना चाहथों कि हमर राष्ट्रीय नेतृत्व आउ माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी कति       ले देहल गईस सम्बल आउ संवेदनशील निर्णय कर चलते प्रदेश में किसान मन ला बोनस देहे   कर रास्ता खुलिस जेकर बर मैं अपन कति ले किसान मन कति ले उनके सादर धन्यवाद प्रेषित     करथों।

महिला उद्द्योषक

-     डॉ. साहेब, हमर माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी भारत के आजादी कर 75 वाँ वर्षगांठ       मतलब 2022 तक न्यू इण्डिया कर निर्माण के आहवान कहिन हैं। छŸाीसगढ एकर बर का कस       तियारी करथे ?

मुख्यमंत्री जी

-     माननीय मोदी जी कहिन हैं कि सन् 1942 में महात्मा गांधी कर नेतृत्व में देश हर अंग्रेजों भारत       छोड़ों कर नारा आत्मसात करे रहिस, जेकर 5 बछर पाछु सन् 1947 में भारत आजाद होए       गईस।

-     माननीय मोदी जी हर संकल्प के महŸाा उपर जोर देहिन हैं आउ कहिन है कि संकल्प ही       सिद्धि कर मार्ग हवे। ओमन भारत कर आजादी कर 75 वाँ वर्षगांठ बर एगोट नावा भारत गढ़े    कर संकल्प लेहिन हैं।

-     अईसा भारत जे आतंकवाद, सम्प्रदायवाद, जातिवाद, भ्रष्टाचार ले मुक्त हो।

-     अईसा भारत जहां स्वच्छता, नारी सशक्तीकरण के बोला होए।

-     अईसा भारत जिहाँ अन्त्योदय कर लक्ष्य पूरा होए जाए।

-     अईसा भारत जिहाँ किसान स्वावलम्बी, खुशहाल आउ समृद्ध होएं।

-     अईसा भारत जिहाँ युवा आउ महिला मन ला अपन सपना पूरा करेकर पूरा अवसर भेंटाए।

-     ए दिशा में हमन हर क्षेत्र बर लक्ष्य निर्धारित करे हन।

-     बछर 2022 तक किसान मन कर आय दुगुना करे बर रोड मैप तियार करे हन।

-     ओईसे तो हमन किसान अभी बगरा धान उपर निर्भर हैं। लेकिन हमन आने लाभदायी फसल मन       कर उत्पादन बढ़ाए बर भी कार्य योजना बनाए हन।

-     कृषि कर संगे उद्यानिकी, डेयरी, पिगरी, फिशरी, रेशम, लाख, कृषि उत्पादन आउ वनोपज       प्रसंस्करण जईसा जम्मो क्षेत्र ला जोडे हन।

-     कृषि उत्पाद कर भण्डारण क्षमता लगातार बढ़ाथन संगे संग मार्केटिंग नेटवर्क भी मजबूत       करथन। ई-नाम (इलेक्ट्रानिक नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट) कर माध्यम ले प्रदेश कर 14 मण्डी   मन ला जोड़ल जा चुकिस है।

-     सिंचाई छमता बढ़ा जाथे।

-     किसान मन ला शिक्षण प्रशिक्षण आउ तकनीकी ज्ञान ले समृद्ध करल जाथे।

-     हमर लक्ष्य हवे कि वर्तमान में कृषि आउ संबंधित बजार मूल्य 44 हजार करोड़ रूपिया हवे,       ओला 2022 तक बढ़ाए के 87 हजार करोड़ रूपिया करना हैं।

-     बछर 2018 में शत्-प्रतिशत विद्युतीकरण कर लक्ष्य हासिल कईर लेबो।

-     बछर 2018 में हमन सम्पूर्ण ओडीएफ कर लक्ष्य पाए जाब।

-     एही नियर साक्षरता, शिक्षा, कुपोषण, टीकाकरण, मातृमृत्य दर, शिशु मृत्यु दर जईसा लक्ष्य मन       ला हासिल कईर लेब, जेकर बर विभागवार कार्य योजना बनाल जाथे।

पुरूष उद्द्योषक

-     माननीय प्रधानमंत्री जी मन की बात में 15 सितम्बर ले 2 अक्टूबर गांधी जयंती तक स्वच्छता ही       सेवा अभियान चलाए कर आवाहन करिन हैं। छŸाीसगढ़ मे राउर का योजना हवे ?

मुख्यमंत्री जी

-     स्वच्छता हमर प्रधानमंत्री जी कर प्रिय विषय हवे। ओ स्वच्छता ला आम जन जीवन बर वरदान       मानथें।

-     वास्तव में स्वच्छता अनेक समस्या कर समाधान हवे एकरे बर एहर सबले रोंट सेवा हवे। प्रधानमंत्री जी स्वच्छता ला जन आन्दोलन बनाए देहिन हवें आउ गांधी जयन्ती ला एकर प्रतीक।

-     हमन छŸाीसगढ़ में 15 सितम्बर ले 2 अक्टूबर कर बीच रोंट अभियान चलाबो जेमें जम्मो       जनप्रतिनिधि मन ले लेके नगरीय आउ ग्रामीण निकाय के जनप्रतिनिधि कर भूमिका तय होही।       ए दौरान बगरा ले बगरा निकाय मन ला ओडीएफ घोषित करकेकर प्रयास करल जाही ताकि       हमर 2018 कर लक्ष्य ला साधल जाए सके।

-     स्वच्छ शौचालय कर उपयोग ला ले के जागरूक अभियान भी चलाल जाही। हमन स्वच्छता कर       आदत डाले बर विशेष धियान देब आउ समाज कर हर वर्ग कर जनभागीदारी तय करल जाही।

माननीय मोदी जी के जनम दिन

-     एगोट आउ खुशखबरी रउरे मन से बांटना चाहथों।

-     हमर लोकप्रिय आउ यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कर जनम दिन 17 सितम्बर के हवे।

-     बिŸाल तीन बछर के अथक आउ निरंतर सेवा ले ओ देश के जन-जन कर दिल जीतिन हैं।       गरीब आउ कमजोर वर्ग के जीवन में नावां आशा कर संचार करिन हैं।

-     मैं अपील करथों कि हमन सब झन मिलके मोदी जी कर जनम दिन 17 सितम्बर ला सेवा       दिवस कर रूप में मनाई।

-     ए दिन प्रदेश कर अस्पताल मन में महापुरूष मन कर प्रतिमा, बाग-बगीचा, सार्वजनिक जगहा, बस स्टैण्ड, रेल्वे स्टेशन, स्कूल, कॉलेज, तलाब, गरीब बस्तीकर आस-पास स्वच्छता अभियान     चलाल जाए।

-     गरीब बस्ती मन में आउ आने जगहा में मेडिकल कैम्प आयोजित करल जाए। विभिन्न सामाजिक आउ स्वयं सेवी संगठन कर माध्यम ले सेवा कार्य करल जाए।

-     मोदी जी कर प्रेरणा ले स्वच्छता आउ आने काम में जनभागीदारी कर जो वातावरण बनिसे       ओकर कुछ मिसाल राउर मन से साझा करना चाहथों।

-     मुंगेली जिला कर लोरमी विकासखण्ड कर कुछ युवा साथी मोर से मिले आए रहिन। ओमन       बताइन कि लोरमी में सर्वदलीय मंच कर गठन करल गईसे, जेमे अनेक सामाजिक संगठन मन       कर भागीदारी हवे। जेमे जनपद पंचायत, डड़सेना युवा मंच, मनियारी बचाओ अभियान शामिल       हवे। युवा मन कर टोली हर लोरमी कर मुक्तिधाम के साफ-सफाई कर जिम्मा लेहिसे आउ हर       एतवार के इहां श्रमदान करथें। मोला ए जान के बहुत खुशी होईसे कि लोरमी जईसा जगह के       नौजवान एतवार दिन पिकनिक मनाए नई जाथें बल्कि साफ-सफाई बर निकलथें।

-     युवा मन कर हर टोली हर अब मनियारी नदी कर सफाई, वृक्षारोपण खरपतवार कर      साफ-सफाई आउ दवा कर छिड़काव जईसा अनेक काम भी हाथ में लेहिसे। स्वच्छ भारत       अभियान बर अईसा खबर बहुत सुखद हवे।

-     अभी 8 सितम्बर अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस कर अवसर में छŸाीसगढ़ कर दुई गो आदिवासी       बहुल जिला दंतेवाड़ा आउ जशपुर आउ दुई गो ग्राम पंचायत करम्हा (जिला सरगुजा) टेमरी       (जिला रायपुर) ला राष्ट्रीय पुरस्कार मिलिसे। ए पुरस्कार मन ले प्रदेश कर गौरव बाढ़िसे।

-     साक्षर भारत अभियान कर तहत दंतेवाड़ा जिला कर जम्मों कैदी मन ला साक्षर कइर देहल       गईसे।

-     मैं अपील करथों कि सफलता कर अईसा कहानी मोर संग साझा करा, मै ए मंच ले ओकर       उल्लेख करना चाहूं।

महिला उद्द्योषक

-     श्रोता हो! राउर प्रतिक्रिया हमन ला राउर चिट्ठी सोशल मीडिया, फेसबुक, ट्विटर कर संगे एसएमएस ले भी बड़ा संख्या में भेंटाथे। एकर बर रउरे मन ला बहुत - बहुत धन्यवाद।

-     आगु भी रउरे अपन मोबाईल कर मैसेज बॉक्स में RKG कर बाद स्पेस देके अपन विचार लिखके       7668500500 नम्बर में भेजत रही आउ संदेश कर आखिर में अपन नाम आउ पता लिखना झिन       भुलाब।

मुख्यमंत्री जी

-     नवनीत प्रताप देव, दिलीप अग्निहोत्री, राज सिंह आहूजा, वीरेन्द्र मलहोत्रा, योगेन्द्र वर्मा, हरि राम,       आशीष, भट्टाचार्य, आलोक नीर, चुन्नी लाल साहू, सुजित शाजी, संजीव तिवारी, के.पी. कैवर्त,       चन्द्रहास पंडा जईसा बहुत सारा साथी मन 5 हजार दिन पूरा करे बर मोला बधाई देहिन हैं।       राउर सब झन के धन्यवाद आउ आभार।

पुरूष उद्द्योषक

-     आउ श्रोता हो, अब बेरा हे क्विज के।

-     सोलहवां क्विज कर प्रश्न रहिस -

-     छŸाीसगढ़ शासन कति ले युवा मन कर कौशल प्रशिक्षण कर कानून कोन सन् में बनाल गईस।

-     एकह सही जवाब (A)         2013

-     सबले हालु जे पांच श्रोता मन सही जवाब भेजिन है उनकर नाम हवे -

      (1)   श्री संदीप कुमार दुबे, बालोद

      (2)   श्री पवन दास, ग्राम झलप, जिला महासमुन्द

      (3)   श्री राकेश कुमार सोनी, तिल्दा नेवरा जिला रायपुर

      (4)   श्री श्याम दास महंत, भिलाई - 3 जिला दुर्ग

      (5)   कुमारी आरती साहू, रायपुर

महिला उद्द्योषक  

-     आउ श्रोता हो अब बेरा है सत्रहवां क्विज कर सवाल हवे -

-     पं. दीनदयाल उपाध्याय शैक्षणिक परिसर, स्याहीमुड़ी कौन सा जिला में है ?

-     एक सही जवाब (A) जशपुर (B) कोरबा एमें ले कोई एक हवे।

-     अपन जवाब देहे बर अपन मोबाईल कर मैसेज बॉक्स में QA लिखी आउ स्पेस देके A चाहे B         जो भी रउरे के सही लगे ओ एक अक्षर लिखके 7668500500 नम्बर में भेज देई। संग में अपन    नाम आउ पता जरूर लिखी।

-     रउरे मन रमन के गोठ सुनत रही आउ अपन प्रतिक्रिया ले हमन ला अवगत करात रही। एकरे   संग आएज के अंक कर हमन इहें समापन करथन। अगला अंक में 8 अक्टूबर के होही रउरे    मन ले फेर भेंट। तब तक बर देई हमन ला विदा। नमस्कार।